रितु कारिधाल  

रितु कारिधाल श्रीवास्तव

रितु कारिधाल श्रीवास्तव (अंग्रेज़ी: Ritu Karidhal Srivastava, जन्म- 13 अप्रॅल, 1975) 'भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन' (इसरो) के साथ काम करने वाली भारतीय वैज्ञानिक हैं। वह भारत के मंगल मिशन (मंगलयान) की उपसंचालन निदेशक थीं। रितु कारिधाल को रॉकेट वुमन के रूप में जाना जाता है। रितु कारिधाल ने लखनऊ विश्वविद्यालय में ही अपनी शिक्षा ग्रहण की। फिर 1997 में स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की और भौतिक विज्ञान में डॉक्टरेट के लिए दाखिला लिया।उन्होंने बाद में उसी विभाग में शिक्षण भी किया।

  • रितु कारिधाल का जन्म मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ। बचपन से ही इसरो और नासा की खबरों से जुड़ी हुई खबरों की अखबार की कतरन अपने पास काटकर रखती थीं।
  • लखनऊ विश्वविद्यालय से रितु कारिधाल ने भौतिकी में ग्रेजुएशन किया। वहीं गेट पास करने के बाद मास्टर्स डिग्री के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट आफ साइंसेज ज्वाइन किया। यहां से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में डिग्री ली।
  • साल 1997 से रितु कारिधाल इसरो से जुड़ी। इससे पहले वह मंगलयान में डिप्टी ऑपरेशन डायरेक्टर रहीं और फिर चंद्रयान-2 में मिशन डायरेक्टर हैं।
  • लखनऊ विश्वविद्यालय चंद्रयान-2 मिशन की निदेशक रितु कारिधाल को 'मानद उपाधि' से सम्मानित किया। एक कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उनको मानद उपाधि देकर किया सम्मानित किया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रितु_कारिधाल&oldid=659544" से लिया गया