जे. एम. व्यास  

जे. एम. व्यास

जयंत कुमार मगनलाल व्यास (अंग्रेज़ी: Jayant Kumar Maganlal Vyas) को फोरेंसिक वैज्ञानिक के रूप में जाना जाता है। 'नेशनल फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी' की स्थापना में उनका बहुमूल्य योगदान रहा है।

  • विज्ञान व तकनीक के क्षेत्र में गांधीनगर स्थित 'नेशनल फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी' (एनएफएसयू) के कुलपति डॉ. जे. एम. व्यास को भारत सरकार द्वारा पद्म श्री (2022) से सम्मानित किया गया है।
  • फोरेंसिक साइंस के क्षेत्र में डॉ. जे. एम. व्यास न सिर्फ भारत बल्कि विदेश में भी जाना माना नाम हैं।
  • उन्होंने जीएफएसयू की स्थापना और उसे एनएफएसयू बनाने में अहम योगदान दिया है।
  • जे. एम. व्यास के मार्गदर्शन में देश और विदेश में कई विश्वविद्यालयों और देशों में फोरेंसिक साइंस लैब और स्कूल की स्थापना की गई है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=जे._एम._व्यास&oldid=673053" से लिया गया