सुरेश चंद्र गुप्ता  

सुरेश चंद्र गुप्ता
पूरा नाम सुरेश चंद्र गुप्ता
जन्म 7 जनवरी, 1934
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम
विद्यालय बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर
पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय, अमेरिका

पुरस्कार-उपाधि राष्ट्रीय प्रणाली पुरस्कार (1975)

राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी पुरस्कार (1989)
आर्यभट्ट पुरस्कार, (1990)

प्रसिद्धि भारतीय वैज्ञानिक
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी सुरेश चंद्र गुप्ता अंतरिक्ष वाहनों के लिए नियंत्रण, मार्गदर्शन और इंस्ट्रूमेंटेशन सिस्टम के विकास के लिए भी जिम्मेदार थे। उन्होंने उपग्रह प्रक्षेपण यान परियोजनाओं को बहु-विषयक नेतृत्व प्रदान किया, जिससे एएसएलवी और पीएसएलवी का सफल विकास हुआ।
अद्यतन‎
सुरेश चंद्र गुप्ता (अंग्रेज़ी: Suresh Chandra Gupta, जन्म- 7 जनवरी, 1934) भारतीय वैज्ञानिक हैं। वह स्वचालित नियंत्रण, उपकरण और अंतरिक्ष प्रणाली विश्लेषण में अग्रणी योगदान के साथ एक प्रसिद्ध अंतरिक्ष इंजीनियर थे। डॉ. एस. सी. गुप्ता भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम की शुरुआत से ही इसके साथ जुड़े रहे थे।

परिचय

7 जनवरी, 1934 को जन्मे सुरेश चंद्र गुप्ता ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से बीएससी और भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर से डीआईआईएससी की डिग्री ली। बाद में उन्होंने अमेरिका के पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। 1965 में घर वापस आने के बाद डॉ. गुप्ता ने तिरुवनंतपुरम में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में अनुसंधान और विकास के लिए सुविधाओं की योजना बनाने और स्थापित करने में डॉ. विक्रम साराभाई के तहत विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (तब एसएसटीसी) में अपना कॅरियर शुरू किया।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. सुरेश चंद्र गुप्ता (हिंदी) vssc.gov.in। अभिगमन तिथि: 21 दिसम्बर, 2021।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=सुरेश_चंद्र_गुप्ता&oldid=671520" से लिया गया