सीतामढ़ी  

जानकी मंदिर, जनकपुर
Janaki Temple, Janakpur

सीतामढ़ी (अंग्रेज़ी: Sitamarhi) भारत के मिथिला का प्रमुख शहर है, जो पौराणिक आख्यानों में सीता की जन्मस्थली के रूप में उल्लिखित है। त्रेतायुगीन आख्यानों में दर्ज यह हिन्दू तीर्थ-स्थल बिहार के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।

इतिहास

सीता के जन्म के कारण इस नगर का नाम पहले सीतामड़ई, फिर सीतामही और बाद में सीतामढ़ी पड़ा। यह शहर लक्षमना (वर्तमान में लखनदेई) नदी के तट पर अवस्थित है। रामायण काल में यह मिथिला राज्य का एक महत्वपूर्ण अंग था। 1908 ईस्वी में यह मुज़फ़्फ़रपुर ज़िला का हिस्सा बना। स्वतंत्रता के पश्चात् 11 दिसम्बर 1972 को इसे स्वतंत्र ज़िला का दर्जा प्राप्त हुआ। वर्तमान समय में यह तिरहुत कमिश्नरी के अंतर्गत बिहार राज्य का एक ज़िला मुख्यालय और प्रमुख पर्यटन स्थल है।

पौराणिक कथा

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=सीतामढ़ी&oldid=611556" से लिया गया