वी.एस. नायपॉल  

वी.एस. नायपॉल

विद्याधर सूरजप्रसाद नायपॉल (अंग्रेज़ी: Vidiadhar Surajprasad Naipaul, जन्म- 17 अगस्त, 1932; मृत्यु- 11 अगस्त, 2018) भारतीय मूल के प्रसिद्ध अंग्रेज़ी साहित्यकार थे। उन्हें नूतन अंग्रेज़ी छन्द का गुरू कहा जाता है।

  • वी.एस. नायपॉल का जन्म 17 अगस्त सन 1932 को ट्रिनिडाड के चगवानस में हुआ था।
  • त्रिनिडाड में पले-बढ़े नायपॉल ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्याल से पढ़ाई की थी। लेखन की दुनिया में उन्हें काफी प्रसिद्धि हासिल है। 'ए बेंड इन द रिवर' और 'अ हाउस फॉर मिस्टर बिस्वास' उनकी चर्चित कृतियां हैं।
  • 2008 में दी टाईम्स ने वी.एस. नायपॉल को अपनी 50 महान ब्रिटिश साहित्यकारो की सूची में 7वाँ स्थान दिया था।
  • वी.एस. नायपॉल को 2001 में साहित्य के लिए 'नोबेल पुरस्कार' प्रदान किया गया था।
  • वर्ष 1971 में उन्हें “इन अ फ्री स्टेट” के लिए मैन बुकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • सन 1979 में “अ बैंड इन द रिवर” के लिए उन्हें पुन: बुकर पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वी.एस._नायपॉल&oldid=664398" से लिया गया