पतिभ्राता विवाह  

पतिभ्राता विवाह में एक विधवा स्त्री अपने मृत पति के किसी भाई के साथ विवाह करती है। इस विवाह को 'देवर विवाह' भी कहा जाता है।

  • जब विवाह पति के बड़े भाई के साथ किया जाता है तो यह 'ज्येष्ठ विवाह' और पति के छोटे भाई के साथ किया जाता है तो 'देवर विवाह' कहलाता है।
  • इस प्रकार के विवाह को 'भाभी विवाह' भी कहा जाता है। इसके साथ ही इसे 'नाता' या 'नांत्रा' या 'नियोगा' भी कहते हैं।
  • 'प्रत्याशित देवर विवाह' में पति के जीवन काल में ही देवर पति समझे जाते हैं।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पतिभ्राता विवाह (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 22 मई, 2014।

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पतिभ्राता_विवाह&oldid=491607" से लिया गया