शैतान सिंह  

शैतान सिंह
पूरा नाम मेजर शैतान सिंह भाटी
जन्म 1 दिसम्बर, 1924
जन्म भूमि जोधपुर, राजस्थान
शहादत 18 नवम्बर, 1962 (आयु- 37)
स्थान रेजांग ला, जम्मू और कश्मीर, भारत
अभिभावक हेमसिंह जी भाटी (पिता)
सेना भारतीय थल सेना
रैंक मेजर
यूनिट 13 कुमायूं बटालियन
सेवा काल 1949–1962
युद्ध भारत चीन युद्ध (1962)
सम्मान परमवीर चक्र (1962)
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी चीन का यह युद्ध जिसमें मेजर शैतान सिंह ने अपना पराक्रम दिखाया, 1962 में आक्साई चिन सीमा विवाद से शुरू हुआ था।

मेजर शैतान सिंह (अंग्रेज़ी: Major Shaitan Singh, जन्म: 1 दिसम्बर, 1924; शहादत: 18 नवम्बर, 1962) परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय व्यक्ति हैं। इन्हें यह सम्मान 1962 में मरणोपरांत मिला।

जीवन परिचय

शैतान सिंह का पूरा नाम शैतान सिंह भाटी था। इनका जन्म 1 दिसम्बर 1924 को जोधपुर, राजस्थान में हुआ था। उनके पिता श्री हेमसिंह जी भाटी भी सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल रहे थे। शैतान सिंह ने 1 अगस्त, 1949 को कुमायूं में कदम रखा था। चीन का वह युद्ध जिसमें मेजर शैतान सिंह ने अपना पराक्रम दिखाया, 1962 में आक्साई चिन सीमा विवाद से शुरू हुआ था। चुशूल सेक्टर सीमा से बस पन्द्रह मील दूर था और वह क्षेत्र लद्दाख की सुरक्षा की दृष्टि से बहुत महत्त्वपूर्ण था। चीन का युद्ध भारत के लिए बहुत से सन्दर्भो में एक नया पाठ था। भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री पण्डित जवाहरलाल नेहरू विश्व शान्ति के पक्षधर थे और उनकी नजर विकास कार्यों पर अधिक थी। आवास, उद्योग आदि क्षेत्रों पर देश की योजनाएँ केन्द्रित थी। चीन की विस्तारवादी नीति और कार्यवाही भले ही भारत से छिपी नहीं थी, फिर भी हम इस बात की कल्पना भी नहीं कर पा रहे थे कि चीन हमारे लिए एक हमलावर देश सिद्ध होगा। भले ही चीन ने जिस तरह से तिब्बत पर अपना कब्जा जमाया हुआ था और दलाई लामा को भारत ने शरण दी थी, यह एक साफ कारण बनता था।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • पुस्तक- परमवीर चक्र विजेता | लेखक- अशोक गुप्ता | पृष्ठ संख्या- 69

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://amp.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शैतान_सिंह&oldid=614551" से लिया गया